IIIT भागलपुर के छात्र ने कोरोना जांच के लिए डिजिटल एक्स-रे सॉफ्टवेयर बन लिया है। जिस से पता चल जायेगा की कोरोना पॉजिटिव है या नहीं। इस सॉफ्टवेयर को ICMR को भेज दिया है एक से दो दिन में अपनी स्वीकृति दे देगा। इसके बाद मात्र 100 रुपए खर्च कर एक सेकंड में कोरोना की जांच हो सकेगी। दूसरी और HRD मिनिस्ट्री ने भी इस सॉफ्टवेयर की सराहना की है और निदेशक प्रो अरविन्द चौबे तथा उनकी टीम को बधाई दी है। सोशल मीडिया पर HRD मिनिस्ट्री ने इस प्रयास की सराहना की है। उन्होंने ट्ववीट कर बताया की इस लोग सेकंड भर में मात्र 100 रुपए खर्च करके कोरोना जांच सकते है। सबसे खास बात इस सॉफ्टवेयर का ये पता कर सकता है कोण व्यक्ति सक्रमित है या उनकों सामान्य सर्दी जुखाम है। ये सॉफ्टवेयर इस भी इम्पोर्टेन्ट है क्योकि बहुत से लोग सामान्य सर्दी जुखाम को कोरोना ,मान कर कोरोना टेस्ट करा रहे है। जिस लोगो में पैनिक की भावना हो गयी है।

निदेशक क्या बोले-

प्रो अरविन्द चौबे ने बताया ट्रायल सफल,सर्टिफिकेट मिलते ही शुरू होगी जांच। उन्होंने कहा की सॉफ्टवेयर की जानकारी HRD मिनिस्टरी को दे दी गयी है। मंत्रालय ने प्रोजेक्ट को पसंद किया है। सॉफ्टवेयर की रिपोर्ट ICMR को भेज दी गयी है। ICMR के तरफ से कहा गया है एक से दो दिन में सटिफिकेट इ दिया जायेगा। पेटेंट के लिए आवेदन दे दिया गया है।

कहाँ हुआ है इसका परीक्षण

IIIT ने बताया की इसका परीक्षण कनाडा के कोरोना मरीज के डाटाबेस लेकर इसे मई से ही तयारी में लग गये थे. इस के बाद HRD मंत्रालय एव ICMR को पहले रिपोर्ट भेजी गयी थी। वहाँ से मंजूरी मिलने के बाद कोरोना के मरीजों पर परिक्षण किया गया जिस में ये सफलता मिली।

Join the Conversation

1 Comment

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *